गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग विभाग

उत्तर प्रदेश सरकार

उद्देश्य और कार्य

गन्ना विकास विभाग का मुख्य उद्देश्य एवं कार्य

  • विभिन्न गन्ना विकास कार्यक्रमों द्वारा प्रति इकाई भूमि. जल एवं उर्वरक के उपयोग से अधिक से अधिक गन्ना उत्पादन प्राप्त करना।
  • गन्ना कृषकों व चीनी मिलों की आवश्यकतानुसार उन्नतिशील गन्ना प्रजातियों का विकास करना तथा गन्ना खेती के विविध तकनीकी को विकसित करना।
  • चीनी मिलों को उनकी आवश्यकतानुसार गन्ने की उपलब्धता सुनिश्चित कराने सुनिश्चित हेतु पर्याप्त गन्ना क्षेत्र व गन्ने का आवंटन करना. गन्ना किसानों को उनके द्वारा समितियों के माध्यम से आपूर्ति किये गये गन्ने का मुल्य भुगतान कराया जाना।
  • चीनी मिल गेट से 15 कि.मी. क्षेत्र के बाहर खांडसारी इकाइयों की स्थापना हेतु प्राप्त आवेदन पत्रों पर विचारोपरान्त लाइसेन्स देना तथा क्रयकर वसूलना ।
  • किसानों को नवीनतम उन्नतशील गन्ना खेती की विधियों की जानकारी देना तथा गन्ना कृषकों मिल व विभागीय. कर्मचारियों/अधिकारियों को प्रशिक्षण देना।
  • आवश्यकतानुसार गन्ना किसानों को कृषि निवेश.ऋण तथा अनुदान उपलब्ध कराना।
  • चीनी मिलवार गन्ना क्षेत्र का सर्वेक्षण कराना. पेड+ पौधा शीघ्र व सामान्य प्रजातियों के अन्तर्गत क्रोंप कटिंग कराकर प्रति हैक्टेयर गन्ना उपज का आंकलन कराना।
  • चीनी मिल क्षेत्रों में नवीनतम गन्ना प्रजातियों की पौधशालाओं स्थापित कर गन्ना कृषकों को बीज गन्ना उपलब्ध कराना।
  • गन्ने की फसल पर रोग एवं कीटों के नियंत्रण हेतु कृषकों को जानकारी देना तथा कीटनाशकों की उपलब्धता सुनिश्चित करना।
  • प्रति इकाई क्षेत्र में अधिक से अधिक गन्ना उपज प्राप्त करने की दृष्टि से गन्ना फसल प्रतियोगितायें आयोजित कराना तथा चीनी मिल क्षेत्रों में अधिकतम गन्ना उपज का आंकलन करना।

इन उद्देश्यों की पूर्ति तथा कार्यो के संचालन निर्देशन व नियंत्रण के लिये उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गन्ना एवं चीनी आयुक्त उत्तर प्रदेश का पद सृजित है जो पदेन सहकारी चीनी किलों व सहकारी गन्ना समितियों का निबंधक (रजिस्ट्रार) होता है।

गन्ना एवं चीनी आयुक्त को निम्नलिखित कानूनों द्वारा विधिक अधिकार प्राप्त है।

  • यू0पी0 शुगरकेन रैग्यूलेंशन आंफ सप्लाई एण्ड परचेंज एक्ट 1953
  • शुगरकेन (कन्ट्रोल) आर्डर-1966
  • शुगर कन्ट्रोल आर्डर -1966
  • एसैन्शियल कमोडिटीज एक्ट -1955
  • दि यू0पी0 शुगर केन सप्लाई एण्ड परचेज आर्डर
  • दि यू0पी0 शुगर केन (परचेज टैक्स) एक्ट -1961
  • दि यू0पी0 रिसट्रिक्शन आंफ शुगर केन परचेज आर्डर -1966
  • दि यू0पी0 वैक्यूम पैन शुगर फैक्ट्रीज लाईसैन्सिंग आर्डर-1966
  • प्रदि यू0पी0 खाण्डसारी शुगर शुगर मैन्यूफैक्चरर फैक्ट्रीज लाईसैन्सिंग आर्डर।

उपरोक्त अधिनियमो/नियमों के अन्तर्गत गन्ना एवं चीनीआयुक्त विभिन्न विकास योजनायें बनाकर उन्हें कार्यान्वित कराते है. चीनी मिलों को गन्ना पूर्ति के लिये क्षत्र आरंक्षित करते हैं. गन्ना पूर्ति की नीति निर्धारित करते है. चीनी मिलों का निरीक्षण करते हुये उन पर अपेक्षित नियंत्रण रखते हैं. गन्ना मूल्य और क्रयकर का भुगतान कराते है. किसानों से सट्टा किये गये कुल गन्ने को पेरने कि लिये चीनी मिलों को बाध्य करते है। खाण्डसारी इकाईयों खडे़ कोल्हुओं की स्थापना के लिये लाईसेंस देने एवं नवीनीकरण का कार्य करते है. उन इकाइयों पर अपेक्षित कर का निर्धारित करते हैं तथा अनियमितताओं के लिये चीनी मिलों की तरह उनके विरूद्ध कार्यवाही करते है।