सांख्यिकीय, उत्तर प्रदेश, भारत

चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग

हमारे बारे में

  प्रमुख कार्यकर्ता
श्री संजय आर भूसरेड्डी

प्रमुख सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग

श्री मनीष चौहान आई०ए०एस०

गन्ना एवं चीनी आयुक्त, उ.प्र.

डॉ० आर एन यादव

उप गन्ना आयुक्त, सांख्यिकीय

गन्ना एवं चीनी उद्योग उत्तर प्रदेश का एक महत्वपूर्ण उद्योग है और प्रदेश के लगभग 35 लाख कृषक परिवारों का मुख्य स्रोत है। प्रदेश में कुल 157 स्थापित चीनी मिले हैं जहां वर्तमान पेराई सत्र 2018-19 में कुल 119 चीनी मिलों का संचालन हुआ है। प्रदेश का कुल गन्ना क्षेत्र 27.94 लाख हेक्टेयर है तथा गन्ना उत्पादकता 80.50 टन प्रति हेक्टेयर है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 1.31 टन प्रति हेक्टेयर बढ़ी है। वर्तमान पेराई सत्र 2018-19 में चीनी परता की गणना 11.46% रही है जो कि एक बड़ी उपलब्धि है। चीनी परता पिछले पेराई सत्र 2017-18 से 0.62% बढ़ा है। प्रदेश में किसानों का गन्ना उत्पादन बढाने, गन्ना क्षेत्रफल, उत्पादकता, कुल गन्ना उत्पादन का अनुमान तथा चीनी मिलों को सुगमता से गन्ना आपूर्ति एवं गन्ना मूल्य भुगतान, विकास योजनाओं संबंधी ऑंकड़ों आदि के संकलन एवं अनुरक्षण हेतु सॉंख्यिकी अनुभाग का गठन किया गया है।

सांख्यिकीय अनुभाग के उद्देश्य

  • विभिन्न उद्देश्यों की पूर्ति हेतु जनपदवार- चीनी मिलवार गन्ने की औसत ऊपज का आंकलन करना एवं दिशा-निर्देश जारी करना।
  • प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा गन्ना पेराई, चीनी उत्पादन एवं औसत चीनी परता की सूचनाओं को संकलन करना।
  • प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा गन्ना किसानों के देय, भुगतान एवं अवशेष गन्ना मूल्य की सूचना का संकलन।
  • प्रदेश में कराये जाने वाले गन्ना क्षेत्रफल सर्वेक्षण की सूचनाओं को तैयार करना।
  • प्रजातिवार, जनपदवार, चीनी मिलवार गन्ना क्षेत्रफल के आंकड़ों का संकलन करना।
  • शासन विभागीय/ अन्तर्विभागीय स्तर की समीक्षा बैठकों का आयोजन एवं प्राप्त निर्देशों का अनुपालन कराना।